March 5, 2024
apple ki taseer (seb ki taseer)

सेब खाने से पहले जाने सेब की तासीर कैसी होती है ?

क्या आप भी जानना चाहते है सेब की तासीर के बारे में यदि हाँ तो चलिए जानते है लेकिन पहले हम आपको बता देते है की सेब को अंग्रेजी में Apple कहते है और इसका वैज्ञानिक नाम Malus Domestica है। आम तौर पर सेब पूरे भारत में खाया जाता है और अच्छी सेहत के लिये डॉक्टर्स भी इसे खाने के लिए बताते है।

सेब की तासीर कैसी होती है ? (Apple Ki Taseer)

सबसे पहले हम आपको बता दें की सेब की तासीर ठण्डी होती है इसीलिए आपको इसे रात को सोते समय खाने से बचना चाहिए। इसे रात को खाने से कफ दोष में वृद्धि होती है जिन लोगो का कफ दोष बढ़ा हुआ है वे इसका सेवन भूल कर भी न करें नहीं तो उन्हें कफ दोष जनित रोगो का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़े : अनार से कैसे होता है बीमारियों का इलाज

सेब की तासीर क्या है गर्म या ठंडी
Photo by Pexels.com

सेब खाने से होने से वाले फायदे

सेब खाने से अनेको फायदे होते है जो लोग प्रतिदिन इस फल को खाते है उनकी सेहत अच्छी रहती है और शारीरिक और मानसिक कमजोरी दूर होती है। इस फल में एंटीऑक्सिडेंट्स अच्छी मात्रा में पाये जाते है और इसे खाने से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। इसे खाने से हमारे शरीर के विभिन्न हिस्से ताकतवर बनते है।

See also  सिंघाड़े (Chestnut)की तासीर कैसी होती है - गर्म होती है या ठंडी

सेब खाने से होने वाले नुकसान

यदि आप सेब का ज्यादा सेवन करते है तो आप को पेट में अनेको समस्या का सामना करना पड़ सकता है जैसे की पेट में गैस या एसिडिटी का होना इसीलिए आप कोशिश करे की सेब को ज्यादा मात्रा में एक साथ न खाये।

सेब की प्रकृति ठंडी होने के कारण इसके खाने के बाद दही, मूली, आचार, आदि ठंडी चीजे खाने से बचना चाहिये नहीं तो आपके पेट में समस्या हो सकती है।

यह भी पढ़े : मेथी दाना का किस प्रकार उपयोग करें जो रोग हो जाए छू मंतर।

तो ये आपने जाना सेब की तासीर(Seb Ki Taseer) कैसी होती है और साथ ही आपको पता चला इसके फायदे और नुकसान के बारे में।