March 5, 2024
USA vs Russia युद्ध

USA vs Russia युद्ध : कौन देश किस ओर, आखिर क्या होगा परिणाम

USA vs Russia युद्ध : पहले पुतिन और जिनपिंग की दोस्ती और अब चीन के संग इनकी नॉर्थ कोरिया में मौजूदगी। अमेरिका के तमाम दुश्मन अब चीन के दोस्त बन चुके हैं और इसका का हौसला अब बढ चुका है। चीन अमेरिका से मुकाबले की तैयारी तो बरसों से कर रहा है लेकिन बदलते हालात ने अमेरिकी सेना को भी सावधान कर दिया है।

अमेरिका के एक जनरल ने सेना को युद्ध की तैयारी का आदेश दिया है। आदेश में चीन से निपटने की तैयारी करने की बात कही गई है। USA के जॅनरल को लगता है कि दो साल बाद चीन अमेरिका को युद्ध की चुनौती दे सकता है।

यह भी पढ़े : जाने आखिर कैसे फैलता है हेपेटाइटिस C

एक तरफ सबसे विशाल सेना तो दूसरी तरफ दुनिया की सबसे शक्तिशाली पहुँच। एक तरफ सनकी मुल्क तो दूसरी तरफ दुनिया में कई जीत हासिल कर चुकी अनुभवी आर्मी। ये जंग नहीं महाजंग की शुरुवात होगी क्योंकि दोनों देशों के पास न्यूक्लियर हथियारों की कमी नहीं है। चीन तो अमेरिका से निपटने की तैयारी कई बरसों से कर रहा है लेकिन अब ऐसी ही तैयारी अमेरिका में भी शुरू हो गई है।

See also  भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में हाल ही में आई गिरावट

अमेरिका के एक कमांडर ने ऑर्डर दिया है एक लाख दस हजार सैनिकों को युद्ध की तैयारी का आदेश दिया है। कमांडर ने अपने सैनिकों को चीन के खिलाफ युद्ध की तैयारी का आदेश दिया है। अमेरिकी कमांडर ने आशंका जताई है की दो साल बाद चीन से युद्ध हो सकता है। कमांडर ने आशंका जताई है कि अमेरिका और चीन के बीच साल दो हजार पच्चीस में युद्ध छिड सकता है।

USA vs Russia War
Photo by Pixabay on Pexels.com

अमेरिकी कमांडर का अंदेशा मौजूदा हालात की वजह से पहली वजह ताइवान है जिसे चीन किसी भी कीमत पर हासिल करना चाहता है। अमेरिका ने एक बार फिर ताइवान को हथियारों का पैकेज देने का ऐलान किया है। अमेरिका ताइवान को तीन सौ पैंतालीस मिलियन डॉलर के हथियार देगा। चीन ने अमेरिका के फैसले का विरोध किया है। ताइवान को हथियार डिपो बनाने का आरोप लगाया है।

पूरी दुनिया को पता है कि पुतिन से दोस्ती के बाद जिनपिंग का हौसला बढ चुका है। दुनिया में एक एंटी अमेरिका ग्रुप भी तैयार हो चुका है जो युद्ध में चीन का साथ दे सकता है। युद्ध हुआ तो रूस, नॉर्थ कोरिया, ईरान और पाकिस्तान चीन का साथ दे सकते हैं।

See also  जानिये 12 राशि नाम : भारतीय ज्योतिष में राशियों के नाम (12 Rashi Names In Hindi and English)

यह भी पढ़े : बर्फ के पानी में नहाने के जबरदस्त फायदे

रूस यूक्रेन युद्ध के दौरान भी नाटो को एकजुट कर चुके बाइडन की टीम में कम धुरंधर नहीं है। US के साथ फ्रांस, ब्रिटेन, जर्मनी, इस्राइल जैसे ताकतवर देश समंदर से लेकर जमीन और आसमान तक दोनों देशों के पास हथियारों की कोई कमी नहीं इसलिए जंग कुछ ही दिनों में परमाणु युद्ध में बदल सकती है।

समंदर में चीन ने खूब ताकत बढाई है लेकिन चीन के करीब ही अमेरिका का किसी भी वॉर का गेम चेंजर सातवाँ बेडा तैनात। सातवां बेडा अमेरिकी नेवी का सबसे बडा अग्रिम तैनाती वाला बेडा है। इसमें सत्तर वॅारशिप और डेढ सौ फाइटर प्लेन तैनात है। इस पर करीब बीस हजार नौसैनिक चौबीस घंटे तैनात रहते हैं।

यह भी पढ़े : खाली पेट सुबह में किसमिस खाने से होने वाले लाभ जानें

अमेरिका की हवाई ताकत चीन से कई गुना मजबूत है। अमेरिका जानता है भविष्य में चीन अपनी महत्वाकांक्षाएं पूरी करने के लिए अमेरिका से पहले युद्ध छेड़ सकता है और यही वजह है कि अमेरिका में भविष्य में होने वाली इस लडाई की तैयारी शुरू हो चुकी है।

See also  बारामुला में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को पकड़ा, अनंतनाग में भी मुठभेड़ जारी

USA vs Russia युद्ध होगा या नहीं ये तो समय के साथ आगे पता चल ही जाएगा।