March 5, 2024
Saur Urja Kya Hai

Solar Energy : सौर ऊर्जा क्या है और इसके उपयोग ?

तो चलिए जानते है सौर ऊर्जा क्या है (What is Solar Energy In Hindi) और इसके क्या उपयोग है ?

सौर ऊर्जा क्या है ? (Saur Urja Kya Hai)

सौर ऊर्जा वह उर्जा है जो सीधे सूर्य से प्राप्त की जाती है मतलब सूर्य से प्राप्त ऊर्जा को ही सौर ऊर्जा कहते है। यह वही है जो मौसम और जलवायु परिवर्तन करता है। सूरज हमें गर्मी और रोशनी देता है, और यह पौधों और जानवरों को पृथ्वी पर जीवित रहने में मदद करता है।

सौर ऊर्जा एक प्रकार की ऊर्जा है जो सूर्य से आती है। सूरज अंतरिक्ष में एक बड़ा, गर्म गोला है जो हमें वह सारी ऊर्जा देता है जिसकी हमें जरूरत होती है। यह आकाश में एक बड़ी बैटरी की तरह है।

सूर्य की शक्ति को दो तरह से बिजली में बदला जा सकता है। एक तरीका एक विशेष सेल का उपयोग करना है जो सूर्य के प्रकाश को बिजली में बदल देता है। दूसरा तरीका यह है कि सूर्य की गर्मी का उपयोग करके एक विशेष तरल को बिजली में बदल दिया जाए। इस तरह की ऊर्जा को सौर ऊर्जा कहा जाता है और इसका उपयोग चीजों को बिजली देने के लिए किया जा सकता है। तो चलिए अब इसके उपयोग जानते है।

Saur Urja Kise Kehte Hai?

सौर ऊर्जा के उपयोग (Uses Of Solar Energy)

सौर ऊर्जा का उपयोग विभिन्न रूपों में किया जाता है। सबसे महत्वपूर्ण तरीका यह है सौर पैनल के माध्यम से ऊर्जा उत्पादन करना। ये सौर पैनल धूप की ऊर्जा को विद्युतीय ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं। इस विद्युतीय ऊर्जा को इंवर्टर द्वारा उपयोगी ऊर्जा में बदला जा सकता है और यह ऊर्जा इंवर्टर या बैटरी में संग्रहीत की जा सकती है। सौर पैनल प्रतिष्ठानों में विद्युतीय ऊर्जा की आपूर्ति के लिए उपयोग होते हैं, जैसे घरों, वाणिज्यिक इमारतों और औद्योगिक संपत्तियों में।

See also  Bing Apps : बिंग मैप्स के मोबाइल एप्लिकेशन में अब लाइव ट्रैफिक अपडेट्स की सुविधा

हम सौर पैनल नामक विशेष पैनलों के साथ बिजली बनाने के लिए सूर्य के प्रकाश का उपयोग कर सकते हैं। इस बिजली को संग्रहित किया जा सकता है और घरों या इमारतों को बिजली देने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। सौर ऊर्जा एक प्रकार की ऊर्जा है जो सूर्य से आती है।

लोग इसका उपयोग चीजों को गर्म करने, चीजों को सुखाने, बिजली बनाने और यहां तक ​​कि पौधों को बढ़ने में मदद करने के लिए करते हैं। सौर ऊर्जा का उपयोग पर्यावरण के लिए अच्छा है और हमें पानी बचाने में मदद करता है। इसे कांच के शिशे या सिंचाई प्रणालियों में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह ऊर्जा बनाने का एक सुरक्षित और स्वच्छ तरीका है जो भविष्य के लिए हमारी दुनिया को बेहतर बनाएगा।

2011 में अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी ने कहा कि “सस्ती, अक्षय और स्वच्छ सौर ऊर्जा प्रौद्योगिकियों के विकास से दीर्घकालिक लाभ होंगे। यह स्वदेशी, अक्षय और अधिकतर आयात-स्वतंत्र संसाधन पर निर्भरता के माध्यम से देशों की ऊर्जा सुरक्षा में वृद्धि करेगा, स्थिरता में वृद्धि, प्रदूषण को कम करना, ग्लोबल वार्मिंग को कम करने की लागत को कम करना …. ये फायदे वैश्विक हैं”।

See also  अल्जाइमर रोग: क्या होता है मस्तिष्क के अंदर जिससे जीवन जीना हो जाता है दुश्वार

यह भी पढ़े : सौर ऊर्जा के लाभ, नुकसान और उपयोग

सौर ऊर्जा : Saur urja kya hai

भारत में सौर ऊर्जा (Saur Urja In India)

सौर ऊर्जा भारत में एक महत्वपूर्ण ऊर्जा स्रोत है और इसका उपयोग देश में बढ़ता ही जा रहा है। भारत में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए कई सरकारी और गैर-सरकारी पहल शुरू की गई हैं।

भारत में सौर ऊर्जा उत्पादन के लिए सौर पार्कों का निर्माण किया जाता है और ये सौर पार्क बड़े आकार के सौर पैनलों के साथ खुले मैदानों में स्थापित किये जाते हैं जो सूर्य के प्रकाश को ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं। कई राज्यों में सौर पार्कों का विकास किया जा रहा है और यहां सौर ऊर्जा की उत्पादन क्षमता में वृद्धि की जा रही है।

सौर ऊर्जा के लिए विद्युतीय नीतियों का विकास भी किया जा रहा है। नई और नवीनतम तकनीकों के प्रयोग से सौर पेनल की प्रदर्शन क्षमता में सुधार हो रहा है और सौर ऊर्जा का उत्पादन अधिक आर्थिक रूप से व्यावसायिक बना रहा है।

सरकार और अन्य समूह धन और अन्य संसाधनों का समर्थन करके इसे प्रोत्साहित करने का प्रयास कर रहे हैं। भारत में वे सूर्य से ऊर्जा बनाने के लिए सोलर पार्क नामक विशेष स्थान बना रहे हैं। इन पार्कों में बड़े सौर पैनल हैं जो सूर्य के प्रकाश को ऊर्जा में बदलते हैं। वे कई जगहों पर इन पार्कों का निर्माण कर रहे हैं और सूर्य से और भी अधिक ऊर्जा बना रहे हैं। लोग सूर्य से बिजली का उपयोग कैसे करें, इसके लिए नियम बना रहे हैं। वे सोलर पैनल को बेहतर तरीके से काम करने और अधिक पैसा बनाने के नए तरीके भी खोज रहे हैं।

See also  आलू (Potato) में क्या पाया जाता है ?

भारत सरकार ने अधिक सौर ऊर्जा बनाने में मदद करने के लिए “सौर योजना” नामक एक कार्यक्रम शुरू किया। वे उन लोगों को पैसा देते हैं जो सौर ऊर्जा परियोजनाएं बनाना चाहते हैं।

भारत में सौर ऊर्जा के प्रयोग से कच्चे ऊर्जा के स्रोतों से आधिकारिक रूप से आधारित ऊर्जा के स्रोतों का उपयोग किया जा रहा है। यह धरती के पर्यावरण को सतत रूप से प्रदूषण मुक्त और स्वच्छ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

भारत में सौर ऊर्जा से होने वाले लाभों को ध्यान में रखकर अनेक प्रोजेक्ट प्रारंभ किये गये हैं :

  • भारत के थार मरुस्थल (Thar Desert) में देश का अब तक का सर्वोत्तम सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट प्रारंभ किया गया हैं, जो अनुमानतः 700 – 2100  GW  ऊर्जा उत्पन्न करने में सक्षम हैं।
  • केंद्र सरकार ने ‘जवाहरलाल नेहरु राष्ट्रीय सौर ऊर्जा परियोजना [ JNNSM ]’ को शुरू कर वर्ष 2022 तक 20,000 MW तक  ऊर्जा उत्पादन करने का लक्ष्य निश्चित किया हैं।
  • 1 मार्च,  2014 को गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश के नीमच जिले में देश का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा प्लांट का उद्घाटन किया  हैं।

यह भी पढ़े :

पथरी के लिए पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाइयाँ

Do You Know : How to Love a Girl ?

सौर ऊर्जा को किससे प्राप्त किया जाता है ?

सौर ऊर्जा को सूर्य से प्राप्त किया जाता है। सूर्यमंडल से उचित तरीके से इसका उपयोग करके, सौर पेनल द्वारा सूर्य के प्रकाश को ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। सौर पेनल में स्थित सौर सेल्स धूप की ऊर्जा को विद्युतीय ऊर्जा में परिवर्तित करती हैं। इस तरह, सूर्य का प्रकाश सौर पेनल के माध्यम से सौर ऊर्जा के रूप में प्राप्त होता है।